अजीब बीमारी : स्मार्ट पुरुष को देखते ही लडख़ड़ा जाते हैं इस महिला के कदम

Spread the love

क्या ऐसी भी कोई बीमारी हो सकती है कि किसी स्मार्ट और सुंदर पुरुष को देखते ही कोई महिला लडख़ड़ाकर गिर जाए। आपका जवाब शायद ना में हो, लेकिन ऐसी ही एक बीमारी से जूझ रही है 32 साल की महिला क्रिस्टी ब्राउन, जो कि इंगलैण्ड के चेशायर शहर की रहने वाली हैं। यह एक दिमागी डिसऑर्डर है, जिसे मेडिकल साइंस में कैटेप्लेक्सी है। यह मस्तिष्क की एक दुर्लभ बीमारी है। अब यह महिला, पुरुषों से आंखें मिलाने से बचती है, क्योंकि यह जब भी किसी स्मार्ट पुरुष को देखती हैं तो इनके शरीर की नसों में शिथिलता आने लगती हैं, जिससे ये लडख़ड़ाकर गिर जाती हैं।

नॉर्थविच के चेशायर की 32 वर्षीय क्रिस्टी ब्राउन कैटेप्लेक्सी नामक एक मस्तिष्क की बामारी का शिकार हैं, जिसका अटैक क्रोध, हंसी और भय, रोमांच जैसे किसी भी इमोशन के जरिए अचानक ही आ सकता है। यह हालत आम तौर पर वैसी ही होती है, जैसे नॉरकोलेप्सी नामक एक नींद से जुड़ी बीमारी में होता है। इस बीमारी के कारण आने वाले अटैक का असर 2 मिनट से भी कम समय रहता है।

दिन में पांच बार होता है ऐसा

क्रिस्टी दो बच्चों की है। दो बच्चों की मां क्रिस्टी को अब को सार्वजनिक जगहों पर अपना सिर झुकाकर चलने पर मजबूर होना पड़ रहा है, जिससे वह लडख़ड़ाकर गिरने से बच सके। क्रिस्टी ने बताया कि यह मेरे लिए बहुत मुश्किल है, लेकिन गिरने से बचने का यही एक उपाय है। उन्होंने बताया कि जब वे एक बार खरीदारी कर रही थी उन्होंने किसी पुरुष को देखा, जो अच्छा लग रहा था और इस दौरान उसके पैर अचानक ही लडख़ड़ा गए। इस बीच उसे खड़े रहने के लिए अपने चचेरे भाई का सपोर्ट लेना पड़ा।

उनका कहना है कि अगर वे किसी स्मार्ट पुरुष को देखती हैं तो उनके पैर लडख़ड़ा जाते हैं। ऐसे में स्वयं की सुरक्षा के लिए उन्हें अपनी आंखों को नीचे रखने की कोशिश करनी पड़ती हैं। अमूमन क्रिस्टी को दिन में पांच बार कैटेप्लेक्सी के दौरे पड़ते हैं, लेकिन किसी दिन इनकी संख्या 50 तक भी पहुंच सकती है। ऐसी स्थिति में उनका घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है।

दुर्लभ बीमारी है कैटेप्लेक्सी डिसऑर्डर

यह बीमारी आमतौर पर नार्कोलेप्सी नामक एक नींद बीमारी से जुड़ी होती है और इससे जुड़े अटैक आमतौर पर दो मिनट से कम समय के लिए होते हैं। लेकिन केवल चंद पल के बाद ही दोबारा आ जाने वाले अटैक के दौरान यह 30 मिनट तक चल सकते हैं। इस बीमारी से पीडि़त लोग हल्के और गंभीर दोनों अटैक के दौरान पूरी तरह से सचेत रहते हैं। नार्कोलेप्सी से पीडि़त लगभग 75 प्रतिशत लोग कैटेप्लेक्सी से पीडि़त रहते हैं, यह एक दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल स्थिति मानी जाती है। असल में यह एक नर्वस सिस्टम से जुड़ी बीमारी है।

About newsray24

Check Also

लायंस क्लब के शिविर में 280 रोगियों की नेत्र जांच

Spread the love मदनगंज किशनगढ़. लायन्स क्लब किशनगढ़ क्लासिक के तत्वावधान में जिला अंधता निवारण …

Leave a Reply

Your email address will not be published.